BADMASHIYAAN...Teri GUSTAKHIYAAN...Meri

DHADKANE MERI SUN

Mar 23 2023 • 10 mins

कुछ तेरी कुछ मेरी बातेँ होती थीं

...याद है ना तुझे...कुछ ऐसी भी रातें होती थीं
... रातों के वो हसीन लम्हे जिनमें होती थीं...कुछ
.....बदमाशियां तेरी
और कुछ
.....गुस्ताखियां मेरी